Best 24+ Easy Hindi Poems For Class 5 | हिंदी कविता कक्षा 5

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

Easy Hindi poems for Class 5:- कक्षा 5 की हिंदी कविताएँ न केवल बच्चों को बेहतर पढ़ने और बोलने के कौशल बनाने में मदद करती हैं बल्कि उनकी लेखन क्षमता को भी बढ़ाने में मदद करती हैं।

कक्षा 5 के लिए हिंदी कविताओं में सब कुछ है! कक्षा 5 के बच्चों के लिए हिंदी की ये छोटी कविताएँ बहुत ही प्रासंगिक विषयों पर लिखी गई हैं ताकि बच्चे इन्हें जल्दी समझ सकें। वस्तुतः कविताएँ हर आयु वर्ग के लोगों को मंत्रमुग्ध कर देती हैं। कक्षा 5 के बच्चों के लिए हिंदी कविताएँ बच्चों को कविताओं से परिचित कराने के लिए तैयार की गई हैं। ये बच्चों को कविताओं के बारे में बुनियादी ज्ञान देते हैं – उनकी संरचना, शब्दों का उच्चारण कैसे किया जाता है और उन्हें कविता की भावनाओं को व्यक्त करने के लिए सही प्रवाह देने के लिए कैसे सुनाया जाता है।

5 कक्षा की हिंदी कविताएँ न केवल बच्चों को बेहतर पढ़ने और बोलने के कौशल बनाने में मदद करती हैं बल्कि उनकी लेखन क्षमता को भी बढ़ाने में मदद करती हैं। कक्षा 5 हिंदी के खजाने में सुंदर कविताओं की एक श्रृंखला है। कक्षा 5 की कविता बच्चों को नए शब्द सीखने और उनकी शब्दावली में सुधार करने में मदद करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। कक्षा 5 के बच्चे आमतौर पर पहली कक्षा की कविता पसंद करते हैं, जो सरल और मज़ेदार होती है। ये कविताएँ प्रकृति, पशु-पक्षियों और कई अन्य रोमांचक विषयों पर हो सकती हैं। आप इन सरल कविताओं को पढ़ा सकते हैं और उन्हें इन्हें समझने और याद करने के लिए कह सकते हैं।

यहाँ छोटे बच्चों के लिए ज्ञान पर लिखी हुई बहुत ही सुंदर कविता प्रस्तुत किया गया है। यह कविता हमारे सभी नन्हें-मुन्हें बच्चों के लिए जरूर पसंद होगी। आज के लेख में, हम बच्चों के लिए नैतिक के साथ कक्षा 5 के लिए हिंदी कविताओं पर चर्चा करेंगे। कविताएँ किसी भी भाषा में बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाती हैं।

Hindi poems for Class 5

फूलों की बहार

Hindi poems for Class 5

फूलों की बहार है यहाँ,

खिल उठे हैं सभी गुलदस्ते।

मस्ती से खेल रहे हैं सब,

हर तरफ है खुशी का मैला मस्त।

हरा-भरा यहाँ का बगीचा,

देखो तुम इसे बड़ी खुशी से।

मौसम ने बनाई है तस्वीर,

बह रही है धूम उसकी तरफ से।

फूलों का रंग अनोखा है,

हर एक खिली हुई मुस्कान भी।

सूंदरता की है इसमें बारिश,

हर कोई है इसे देखने को बेकरार भी।

बच्चों को यहाँ प्यार मिलता है,

खेलने को जगह बहुत है यहाँ।

मिलकर सब मिलते हैं खुशी से,

यहाँ का है आनंद निर्माण भी।

फूलों की बहार हमारी यहाँ,

मिलकर आएं सब खुशहाली से।

यही है बचपन की खुशी का आदान,

हमारे दिल में बसी यही जान से।

-आदित्य

बापू नमन आपको

Hindi poems for Class 5

प्यारे बापू नमन आपको।

आज़ादी का बिगुल बजाया,

अंग्रेजों को मार भगाया।

हम सबका ही, नमन आपको।

गोली से भी नहीं डरे थे,

सत्य-मार्ग पर सदा बढ़े थे।

इसीलिए तो नमन आपको,

नस्ल-भेद को दूर हटाया।

मानवता का पाठ पढ़ाया।

आज राष्ट्र का, नमन आपको।

-रमेश चन्द्र पंत

आओ हम पेड़ लगाएँ

Hindi poems for Class 5

आओ हम पेड़ लगाएं,

आस पास को हरा भरा बनाए।

कितने सुंदर कितने प्यारे,

रंग बिरंगे रहते चूपचाप खड़े। 

एक दूसरे से गले मिले,

आओ हम पेड़ लगाएं।

चिड़ियों का संगीत सूनो,

अपने मन को थीर धरो।

पेड़ों से तुम भी प्रीत करो,

पेड़ों से आती बरसात निराली।

फूलों की सुगंध मन को बहकाये,

आओ हम पेड़ लगाएं।

जल जीवन है धरा पर उपवन,

पेड़ ही तो धरती का तन मन।

काम की बात सबको बताओ,

पेड़ ना काटो मान भी जाओ। 

जीव जंतु सदियों से रहते आये,

आओ हम मिलकर पेड़ लगाएं।

पेडों की है बात निराली,

करनी है इनकी रखवाली।

हम मनाएंगे ईद और दीवाली,

ऋषियों ने पेड़ों के गुण बताए।

आओ हम वन महोत्सव मनाए,

आओ हम पेड लगाएं।

-अजय कुमार यादव

मातृभाषा का नाम है हिंदी

Easy Hindi poems for Class 5

मातृभाषा का नाम है हिंदी

देश का अपने सम्मान है हिंदी

है ये सब भाषाओं से न्यारी

हर हिंदुस्तानी का अभिमान है हिंदी

कश्मीर का सौंदर्य है हिंदी

पंजाब का बांकपन है हिंदी

है राजस्थान की संस्कृति निराली

हरियाणा का अपनापन है हिंदी

सभ्यता का हम पर एहसान है हिंदी

कण कण में विद्यमान है हिंदी

भारतवर्ष को करती ये अलंकृत

विदेशों में भी शोभायमान है हिंदी

ऋतुओं का आगमन है हिंदी

त्योहारों का मनाना है हिंदी

नैतिक मूल्यों का पाठ पढ़ाती

जीने का जीवन नाम है हिंदी

देश का गुणगान है हिंदी

हर जन का स्वाभिमान है हिंदी

पल भर में बनाती ये आसान है हिंदी

अनेकता में एकता का नाम है हिंदी

नस नस में विराजमान है हिंदी

दिलों में दैदीप्यमान है हिंदी

बड़ी से बड़ी कठिनाई को

भारत का दूजा नाम है हिंदी

सबकी आन बान और शान है हिंदी

जोड़े रखती सबको संग अपने

भीड़ से हटकर बनाई है जिसने

एक अलग पहचान है हिंदी

हिन्दी भाषा

Easy Hindi poems for Class 5

सरल,सहज और मीठी भाषा,

बह प्रचलित और श्रेष्ठ भाषा.

हम सब की है प्रिय भाषा,

हिन्दी हमारी राष्ट्र भाषा,

साहित्य का श्रंगार है हिंदी,

सूर मीरा की भाषा हिन्दी,

मैत्री की भाषा है हिन्दी,

राष्ट्र का प्रतीक है हिन्दी,

पढ़ते हिन्दी,लिखते हिन्दी,

सुनते और समझते हिन्दी.

हिंदी भाषा हमारी शान,

करते हम इस पर अभिमान.

अँग्रेजी का नव विकल्प बन

लेती है अँगड़ाई हिंदी.

संस्कृति, उत्सव, त्योहारों की

नस – नस में है समायी हिंदी.

सहज, सरल भावों – शब्दों की

शीतल – सी पुरवाई हिंदी.

देशज बोली, भाषाओं की

करती है अगुवाई हिंदी.

हो संयुक्त राषट्र की भाषा

गिने न और दहाई हिंदी.

-प्रीतम कुमार साहू

खेलो होली

5th class hindi poem

रंगों की भर लाओ झोली.

मिलजुल के सब खेलो होली.

नाचो-गाओ, खुशी मनाओ,

करो सभी के संग ठिठोली.

करो रंग की खूब लड़ाई,

पर अपनी मीठी हो बोली.

खुशी रंग बरसाते आई.

अपनी हुड़दंगों की टोली.

जब आई गुजियाों की थाली,

टूट पड़े सारे हमजोली,

-महेंद्र कुमार वर्मा

होली है,

5th class hindi poem

होली है, भाई होली है.

बंदर काका भांग पिए हैं।

करता श्वान ठिठोली है.

खुशी में डुबा जंगल है।

आया पर्व सुमंगल है.

कोकिल, मैना गाएँ गीत

कौवे ने छेड़ा संगीत.

बिल्ली – चूहा रंग खेलते

मस्त ग्धों की टोली है.

लगा शेर को रंग गुलाल,

हाथी पानी रहा उछाल.

बुलबुल – गौरिया हैं संग

तितली को करती हैं तंग.

ठमक – ठमक कर नाचा मोर,

हवा फागुनी डोली चहूँ ओर,

मधुमक्खी ले आई शहद,

साथी सभी हुए गदगद.

तोते ने भी किया न देर,

लगा दिया था फलों का ढेर.,

सबने खाया – पिया प्रेम से

भरी हर्ष से झोली है.

होली है, भाई होली है.

-गौरीशंकर वैश्य विनम्र

दीपावली आई

hindi poem for class 5 on nature

दीप जल उठे दीपावली आई,

कण-कण में उजियारा छाई।

घर-आंगन में रौनकता समायी,

रंग रंगीली मन को अति भायी।

घर आंगन सुहाने लगते हैं,

सब के मन को भा जाते हैं।

बच्चे मौज-मस्तियाँ करते हैं,

खूब हंसते और मुस्कुराते है।

बच्चे प्यारे-प्यारे लगते हैं,

ये बड़े न्यारे-न्यारे लगते हैं।

चमकीले कपड़े पहनते हैं,

बच्चे खुशियाँ खूब मनाते हैं।

बच्चे फुलझड़ियाँ जलाते हैं,

ये आँगन में फूल खिलाते हैं।

बच्चे खुब मिठाईयां खाते हैं,

और खुशियां खूब मनाते हैं।

धूप-दीप से थालियां सजाते हैं,

माँ लक्ष्मी की आरतियाँ करते हैं।

बतासे मिठाई से भोग लगाते हैं,

सुख-शांति का आशीष पाते हैं।

-अशोक पटेल

दीपों का त्यौहार

hindi poem for class 5 on nature

दीप जले हैं घर आँगन में,

दीपों का त्यौहार है आया।

जगमग-जगमग घर आँगन,

सबके मन खुशियाँ समाया।

नए-नए कपड़े पहनकर,

बच्चों का मन इतराया।

देख पटाखें, फुलझड़ियाँ,

बच्चों का मन हर्षाया।

खिल,बताशे, रसगुल्ले से,

मुनिया का मन ललचाया।

दूर खड़े सोनू-मोनू भी,

देख मिठाई दौड़े आए।

देख रहा हामीद दीवाली,

उसके मन को भी भाया।

धूमधाम से मिलकर सबने,

दीपावली त्यौहार मनाया।

-महेन्द्र साहू

आशा है की आपको इस पोस्ट से Best 10+ Hindi Poems For Class 5 – हिंदी कविता कक्षा 5 के बारे में जो जानकारी दी गयी है वो आपको अच्छा लगा होगा, आपको हमारी ये पोस्ट पसंद आई है तो अपने दोस्तों के साथ अधिक से अधिक शेयर करें ताकि उन्हें भी इसके बारे में पूरी जानकारी मिल सके। हमारे वेबसाइट Gyankinagri.com को विजिट करना न भूलें क्योंकि हम इसी तरह के और भी जानकारी आप के लिए लाते रहते हैं। धन्यवाद!!!

Hindi Poems For Class 5 बच्चों के लिए छोटी हिंदी कविताएँ कक्षा 5 में महत्वपूर्ण हैं। ये कविताएँ बच्चों को नए शब्द सीखने, भावनाओं को व्यक्त करने, और उनकी भाषा कौशल को सुधारने में मदद करती हैं। इन कविताओं को पढ़कर बच्चे अपनी सोच को व्यक्त करने में आसानी से सफल हो सकते हैं और उन्हें हिंदी के बारे में सही समझ प्राप्त होती है। ये सरल कविताएँ बच्चों की रुचि पैदा करती हैं और उनकी पठन और लेखन क्षमता को विकसित करती हैं। यहाँ दी गई सूची में छोटी हिंदी कविताओं का एक छोटा संग्रह है। आप इन्हें पढ़कर अपने बच्चों के लिए सबसे उपयुक्त कविता चुन सकते हैं।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

Leave a Comment

close

You cannot copy content of this page